ZAROORI BAAT JO LADKIYON KO JANNA CHAHIYE | ज़रूरी बात जो लड़कियों को जानना चाहिए |

इस वक़्त दुनिया की 33 % से ज़्यादा आबादी किसी न किसी social media का इस्तेमाल करती है।  कुछ लोगों ने बक़ायदा इस फ़ील्ड में career बनाया हुआ है तो कोई इनके माध्यम से देश दुनिया में मशहूर हो गया है। आज social media से लोग न सिर्फ़ दोस्त बनाते हैं बल्कि अहम् मुद्दों पर चर्चा के लिए भी ये एक बेहतरीन मंच है।

social media है तो बहुत उपयोगी लेकिन जैसा कि हम जानते हैं कि हर scientific invention का misuse होता है। ZAROORI BAAT JO LADKIYON KO JANNA CHAHIYE में जानिए वो बातें जिनसे लड़कियों की निजता ( privacy ) और सुरक्षा ( safety ) ख़तरे में पड़ रही है।

SOCIAL MEDIA KA KAALA SACH | सोशल मीडिया का काला सच |

हाल ही में boys or bois locker room की चर्चा हर जगह हो रही है जो कि instagram का एक private chat group है। इस group में लड़कों के बीच हो रही chat के screenshot, social media पर viral हो गई है|

हर जगह इस group ‘boys or bois locker room’ की चर्चा हो रही है।  इस group में लगातार लड़कियों की pics, share की जा रही थीं और उन पर अश्लील और भद्दे comments किए जा रहे थे। 

GANGRAPE PLANNING | गैंगरेप का प्लान बना रहे थे लड़के |

एक अन्य social media platform में कुछ लड़कों के बीच हो रही private chat के screenshots भी हैं, जिसमें एक लड़की का gangrape किए जाने की बात हो रही थी । ‘Bois Locker Room’ के members की उम्र को लेकर confirm information नहीं है पर कथित रूप से ये school boys बताए जा रहे हैं जिनकी उम्र 16 से 18 साल है। एक बहुत की भयावह चेहरा, social media के एक chat group का सामने आ रहा है ।

Delhi Commission for Women (DCW) Monday ने  police से इस गंभीर मामले में जांच की मांग की है और Instagram को नोटिस भी भेजा है। इस पूरे घटनाक्रम में सबसे ज़्यादा चौंकाने ( shocked ) वाली बात ये भी सामने आ रही है कि जिन लड़कियों की pics शेयर की जा रहीं थी, वो सब नाबालिग़ ( underage ) हैं।  

इस बारे में सामने आई news और tweets को देख कर कुछ लोगों ने कमेंट भी किए है कि chat में दिख रहे लड़कों को वो पहचानते हैं।  ये लड़के हमारे  क्लास/स्कूल में पढ़ते हैं या परिचित हैं।  इन सभी लड़कों के बारे में police ज़्यादा से ज़्यादा जानकारी जुटा रही है। 

 ZAROORI BAAT JO LADKIYON KO JANNA CHAHIYE | ज़रूरी बात जो लड़कियों को जानना चाहिए |

एक research के मुताबिक़ भारत में female journalists, activists को बहुत ज़्यादा online abuse का सामना करना पड़ता है। female politicians को हर दिन 100 भी ज़्यादा अपशब्दों वाले tweet किए जाते हैं।  इस भयावह स्तिथि को देखकर आप सहज अंदाज़ा लगा सकते हैं कि आम लड़कियों के साथ कितना अन्याय हो रहा होगा।

किसी भी बहाने से महिलाओं का चरित्रहनन करने वाले, उनका शोषण करने वाली मानसिकता के लोगों से लड़ने के लिए, उनके ख़िलाफ़ एकजुट होना होगा। हमें सुनिश्चित करना होगा कि महिलाओं के आत्मसम्मान को किसी भी प्रकार से चोट न पहुंचे।

इसके लिए सरकार और social media companies को भी बहुत से कदम उठाने होंगे। लड़कियां को उनका अधिकार दिलाने और न्याय की प्रक्रिया में उनके हित में कौन-कौन से प्रावधान हैं, उनमे से कुछ को, हम यहाँ कम शब्दों में समझने का प्रयास करेंगे। 

CYBER SECURITY

“Cyber Security” – का अर्थ होता है सूचना, उपकरण, कंप्यूटर डिवाइस, कंप्यूटर रिसोर्स, संचार उपकरण की सुरक्षा और उनमें स्टोर इन्फर्मेशन को अनाधिकृत पहुँच (unauthorised access), उपयोग, प्रदर्शन ,बदलाव, नष्ट करने से बचाना है।

LAW FOR WOMEN

[ Ipc Sec. 507 ] अनाम संसूचना द्वारा आपराधिक अभित्रास-

जो कोई अनाम संसूचना द्वारा किसी महिला को धमकी दी हो, का अपराध करेगा, कारावास जिसकी अवधि दो वर्ष तक की हो सकेगी, दण्डित किया जाएगा । Section 507 of IPC holds them punishable for 2 years threatening a woman by any kind of anonymous communication which is also intimidating.

[ Ipc Sec. 503 ] – आपराधिक अभित्रास-

जो कोई किसी अन्य व्यक्ति के शरीर,ख्याति या सम्पत्ति को कोई क्षति करने की धमकी देता है या उससे ऐसी धमकी के निष्पादन का परिवर्जन करने के साधन स्वरूप कोई ऐसा कार्य कराया जाए. जिसे करने के लिए वह वैध रूप से आबद्ध न हो, 2 वर्ष का कारावास। Section 503 of IPC- 2 years of imprisonment for threatening a woman by either alarming or malign her reputation.

भारतीय दंड संहिता की धारा 354A के अनुसार –

स्त्री पर हमला करेगा या आपराधिक बल का प्रयोग करेगा या हमला करने के लिए दुष्प्रेरित करेगा या षड़यन्त्र करेगा, या स्त्री पर ऐसे आपराधिक बल का प्रयोग करेगा, वह दोनों में से किसी भाँति के कारावास से, जो एक वर्ष से कम नहीं होगी किन्तु दस वर्ष तक की हो सकेगी, दण्डित किया जाएगा और जुर्माने के लिए भी दायी होगा।”

https://mpgk.in/354a-ipc-in-hindi/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *