What is Mansplaining ? ( मेंस्प्लेन क्या है ?) – patriarchy problems

अनीता सेनगुप्ता अमेरिकी अन्तरिक्ष एजेंसी NASA में काम कर चुकी साइंटिस्ट हैं और एरोनॉटिक्स के क्षेत्र में 20 साल का अनुभव रखती हैं | उनके एक ट्वीट के बाद MANSPLAINING पर फिर से बहस शुरू हो गयी है |

भारत के अत्यंत महत्वकांक्षी मिशन CHANDRAYAAN 2 के VIKRAM LANDER से इसरो का संपर्क टूट गया था जिसके बाद अनीता ने ट्वीट किया जिसमें उन्होंने ज़िक्र किया कि MOON जैसे किसी भी PLANET पर लैंडिंग करना कठिन काम है | जिसके बाद लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया कि MOON, PLANET नहीं SATELLITE है |

जवाब में अनीता ने भी TECHNICAL TERMS में अपने tweet को समझाया | इस पूरे मामले ने MANSPLAINING के लिए जगह बना दी है और स्त्री और पुरुष की आदिकाल से चली आ रही बहस को फिर हवा मिल गयी है |

MANSPLAINING क्या है

किसी पुरुष के द्वारा किसी महिला को कोई तथ्य, विषय या बिंदु समझाया जाना इस पूर्वाग्रह के साथ कि कुछ विशेष विषय केवल पुरुषों के कार्यक्षेत्र हैं और उन पर महिलाओं की समझ या अधिकार नहीं हो सकता |

यह कुछ पुरुषों के judgemental होने को दर्शाता है | यह उन पुरुषों के बारे में है जो स्त्री के साथ अतिआत्मविश्वासी और अनुपयुक्त व्यवहार करते हैं | यह ऐसे व्यवहार को भी दर्शाता है जब व्यक्ति धारणा रखता है कि वह किसी विषय में विशेषज्ञ से भी अधिक जानता है |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *