सुरभि | SURABHI – 90s AMAZING TELEVISION SHOW THAT EVERY PERSON REMEMBER |

सुरभि ( SURABHI ) का शाब्दिक अर्थ है सुगंध, ख़ुश्बू, fragrance . 90 के दशक में भारत के अत्यंत लोकप्रिय टीवी शो सुरभि की सुगंध सचमुच पूरे भारतवर्ष में फैली हुई थी। इस टीवी शो को रेणुका शहाणे Renuka Shahane और सिद्धार्थ काक Siddharth Kak प्रस्तुत करते थे।

सुरभि नामक टीवी शो आप की स्मृतियों में जरूर होगा। 90 के दशक में भारत के लोगों ने दूरदर्शन पर जिन बेहतरीन टीवी शोज़ को देखा है उनमें से एक टीवी शो सुरभि है, जिसे कभी नहीं भुलाया जा सकता।

SURABHI | 90s INDIAN TELEVISION SHOWS |

सिद्धार्थ काक और रेणुका शहाणे पूरी गरिमा (grace), सुंदरता और बुद्धिमत्ता से इस कार्यक्रम SURABHI को प्रस्तुत करते थे। इस कार्यक्रम में भारत के विभिन्न स्थानों के बारे में, भारत की संस्कृति ( Indian culture ) के बारे में, लोक नृत्य, लोक गायन,शिल्प,कला,विज्ञान, प्राचीन इमारतें, इतिहास, भूगोल और सामान्य ज्ञान जैसे विषयों के बारे में बहुत सी जानकारी दी जाती थी।

90 के दशक में इस कार्यक्रम SURABHI को हर घर में देखा जाता था और सपरिवार देखा जाता था। भारतीय परिवार उस समय एक साथ बैठते थे, समय बिताते थे। चर्चा करते थे। उस समय इंटरनेट और मोबाइल फ़ोन की सुविधा भारत में नहीं थी। जैसे आज मोबाइल फोन ने सब को काफी हद तक घर के अंदर भी एक दूसरे से जुदा कर दिया है।

INDIAN TV SHOWS 90s KIDS REMEMBER

आज लोग घर के सदस्यों के साथ टीवी देखते वक्त भी फ़ोन में लगे रहते हैं और अंदर एक शांति और सुकून का अनुभव नहीं करते। लेकिन आज से 30 साल पहले जो सुरभि देखते वक्त, परिवार के साथ बैठकर मनोरंजन करना एक बहुत ही सुखद एहसास था । इन कार्यक्रमों से हमारा ज्ञानवर्धन तो होता ही था, हमारी बौद्धिक क्षमताओं को भी विन्यास (expansion of mental abilities ) मिलता था, हमारी सोच-समझ का विस्तार होता था।

1990 से 2001 तक प्रसारित ( telecast ) किए गए SURABHI का टाइटल म्यूज़िक बहुत ही कर्णप्रिय (euphonius ) था और उसे तैयार किया था मशहूर वॉयलनिस्ट ( violinist ) एल सुब्रमणियम ने। सिनेमा विज़न इंडिया ( cinema vision india ) नामक प्रोडक्शन हाउस इस कार्यक्रम के निर्माता थे। SURABHI की लोकप्रियता ( popularity ) का एक कारण इसका weekly quiz भी था। हर सप्ताह इस quiz में दर्शकों ( viewers ) से सवाल किया जाता था और जीतने वालों  आकर्षक ईनाम दिए जाते थे।

SURABHI | BEST INDIAN TV SERIALS |

पुरस्कार बड़ा ही अद्भुत हुआ करता था । ऐसा कि आज की make my trip, yatra, trivago, oyo वाली जेनरेशन को सुन के मज़ा आ जाएगा। इस quiz के विनर्स को अलग-अलग state tourism boards की तरफ़ से भारत के बेहतरीन पर्यटन स्थलों (tourism destinations ) की यात्रा का अवसर मिलता था। अन्य पुरुस्कारों में हैंडिक्राफ्ट और कलाकृतियाँ (artifacts ) मिलती थीं।

हमें भारत की एकता,अखंडता ( integrity )और उसकी भव्यता ( grandeur ) का और उसकी विराटता का अनुभव होता था। इस कार्यक्रम में दर्शक चिट्ठी लिखकर भेजा करते थे। अपना फीडबैक, सुझाव और कार्यक्रम के लिए अपना प्रेम हाथ से लिखे पत्रों से व्यक्त ( express ) करते थे। सुरभि के पास बेशुमार पत्र आते थे जिनमें से कुछ पत्र चुनकर शो में पढ़े भी जाते थे।

90s TV SHOWS INDIA

उस दौर की यादें ताज़ा हो जाएंगी अगर मै आपको कहूं कि तब 15 पैसे का पोस्टकार्ड आता था। सुरभि ( SURABHI ) का नाम limca book of records में भी शामिल है। एक हफ़्ते में 14 लाख पत्र सुरभि को प्राप्त हुए थे। भारतीय टीवी शो के इतिहास में यह highest ever documented response है। इतने पत्रों के कारण भारतीय डाक सेवा को एक विशेष प्रतियोगिता पोस्टकार्ड ( Competition Postcards ) निकालना पड़ा जिसकी कीमत 2 रूपए ( 2 rupees ) होती थी।

क्या ही अद्भुत समय था वो। आप उसे भारत में टीवी का स्वर्ण युग कह सकते हैं। रेणुका शहाणे उसी स्वर्णिम काल में circus नामक टीवी सीरीज़ भी कर रही थीं। वो अब भी फिल्मों ( हिंदी और मराठी ) में सक्रिय हैं। वेब सीरीज़ भी कर रही हैं। सिद्धार्थ काक ने सुरभि फाउंडेशन ( SURABHI FOUNDATION ) की स्थापना भी की जो सांस्कृतिक कलाकृतियों  ( cultural artefacts ) के संरक्षण ( preserving ) का काम करती है।

इस ब्लॉग को लिखने के तीन कारण हैं

1 . जिन्होने इस शो को देखा है उन्हे nostalgic moments देना है।

2 . अभी के टीनएजर्स या आने वाली जेनरेशन इस शो के बारे में जान पाए।

3 .  ये मेरे पसंदीदा शो में से एक है।

IMROZ FARHAD

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *