SPEED READING – 7 steps to become a reading Bruce Lee

पिछले blog READING COMPREHENSION ( https://neeroz.in/reading-comprehension/) में आपने पढ़ते रहने और सीखते रहने की importance को जाना। आज बात करेंगे SPEED READING के बारे में। क्यूँ विद्युत की गति (lightening speed )से भाग रही इस दुनिया में तेज़ पढ़ना ज़रूरी है। न सिर्फ़ reader होना बल्कि active reader होना, अच्छी memory होना और quick learner होना भी बहुत ज़रूरी है। जानेंगे ये सब आज के blog, speed reading में।

HOW TO CHECK SPEED OF READING

सबसे पहले तो आपको अपनी present speed of reading पता होनी चाहिए। नहीं पता ? चलिए आपकी ये मुश्किल हम आसान किए देते हैं। अलग -अलग अख़बार या मैगज़ीन या कोई online article या neeroz का ही कोई blog ( कम से कम 5 ) को timer लगा के पढ़िए। अलग-अलग content इसीलिए क्यूंकि कोई बहुत सरल हो सकता है, तो किसी में language या words का difficulty level high भी हो सकता है।  तो 5 में से आपका average तो निकल ही जाएगा। हर बार, एक मिनट पढ़िए और words count कीजिए।

मान लीजिए आपने पहले content में एक मिनट में पढ़े 200 words, next में 225 ,250 फ़िर 150  और फ़िर 175.  तो 5 मिनट में सरल या कठिन text में आपने पढ़े कुल 1000 शब्द तो आपके पढ़ने की average speed हुई 200 शब्द प्रति मिनट ( 200 wpm ). आप speed check करने के बाद हमें comment में बता सकते हैं।

SUBVOCALIZATION

अब चूँकि आपने मन बना लिया है ( बना लिया है न ? ) की आपको speed reading सीखनी है, ये जानना ज़रूरी है कि क्या ऐसा कोई कारण है जो हमारी speed को बढ़ने से रोकता हो ? जवाब है हाँ, yes.  और उस कारण का नाम है subvocalization ( auditory reassurance ). अब ये subvocalization क्या है ? जब आप कोई text पढ़ते हैं तो उसे साथ ही साथ मन में भी बोलते हैं। इस वक़्त इस लाइन को पढ़ते हुए भी आप मन में बोल रहे हैं। अब ये pronunciation जो बिना बोले आप कर रहे हैं subvocalization कहलाता है।

तो हम subvocalization क्यों करते हैं। क्यूंकि जब हम LKG ( हमारे टाइम में KG 1 कहते थे ) में पढ़ना सीखते हैं तो बोल -बोल कर पढ़ना सीखते है। पढ़ने की ये आदत हमारे SUBCONSCIOUS में चले जाती है।

अगर आप किसी teacher से बात करेंगे तो आप जानेंगे कि जब वो class में बच्चों से कहते हैं कि ‘मन में पढ़ो’ तब भी बच्चे बोलकर ही पढ़ते हैं।  इसका कारण subvocalization ही है। बच्चे न चाहते हुए भी इन शब्दों का उच्चारण ( pronunciation ) करने लगते हैं।

बचपन में text कम था। अब बड़े-बड़े chapters, reports, files, books पढ़नी है। ऐसे में हम उसी speed में पढ़ पाते हैं, जो हमारी मन में बोलने की speed होती है। हमारी ऑंखें तेज़-तेज़ भाग सकती हैं लेकिन मन में बोलने की हमारी स्पीड के साथ उसको adjust करना पड़ता है। कुल मिलाकर यही हमारी पढ़ने की स्पीड बन जाती है। इसे तेज़ करने की या speed reading techniques सीखना इसीलिए ज़रूरी है। 

HOW TO DO SPEED READING ?

image credit – youtube

speed reading कैसे करें ? अगर कुछ simple steps को लगातार कुछ दिनों तक follow करें तो आपको changes दिखने लगेंगे।

1 .  पढ़िए, ज़्यादा से ज़्यादा पढ़िए। पढ़ने की practice से शब्द जल्दी पकड़ में आने लगते हैं।  comprehension और understanding improve होने लगती है। ये speed बढ़ाने का सबसे natural, organic तरीका है जिससे आपका knowledge और efficiency भी बढ़ती है।

2. pointer – अपनी उंगली, pen, pencil या cursor का इस्तेमाल pointer की तरह करें।  जिस लाइन को पढ़ रहे हों उसके नीचे इस pointer को चलाते चलें।  पहले level पर आपको अपने pointer को तेज़ गति से लाइन में एक तरफ़ से दूसरी तरफ़ ले जाना है। आप text पढ़ नहीं पाएंगे लेकिन ये आपकी आँखों का अभ्यास है। 15 -20 मिनट हर दिन कीजिए। 2 हफ़्तों तक।आँखों के fast movement की practice के लिए हम एक image भी लगा रहे हैं।  उन पर भी हर दिन 20- 30 second practice ज़रूर करें।

credit – wikipedia

3. next level में आपको अपने pointer की speed कुछ कम करनी है और कोशिश करनी है की आप हर लाइन का 50-60 % पढ़ सकें।

4. इसके next level में इसी speed के साथ 80-90 % पढ़ने की कोशिश करें।

5. next ये की आप इसी speed में 100 % पढ़ने में सफल होने तक इस practice को जारी रखें।

6. speed बढ़ने का अनुभव जब होने लगे तो अब comprehension पर focus करें। अब इस बात पर ध्यान दें की तेज़ पढ़ने के साथ-साथ आप तेज़ समझने भी लगें।

7. इसके बाद आती है active reading. इसका मतलब है ग़ैर ज़रूरी हिस्से को सरसरी निगाह ( to have a glance ) से पढ़ें लेकिन सबसे ज़रूरी भाग को पढ़ते समय धीमे हो जाएं।

ये सब सुनने में शायद आसान लगे, practice के लिए discipline और dedication दोनों लगेंगे। speed reading बच्चों का खेल नहीं है। तभी तो Warren Buffett हर दिन average 500 पेज की corporate reports पढ़ते हैं। क्या ये एक average reader के बस की बात है? Thanks for reading neeroz. 850 words के इस blog को पढ़ने में आपको कितना वक़्त लगा ? एक बार timer लगाकर try कीजिए।

IMROZ FARHAD

2 thoughts on “SPEED READING – 7 steps to become a reading Bruce Lee

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *