सीरियस साहिल – serious sahil hindi story

आज के HINDI STORY ब्लॉग में पढ़ेंगे एक दिलचस्प कहानी serious sahil hindi story

HINDI STORY

लकड़ी की उस टेबल पर बैठी, कभी वो फोर्क से टेबल को धीमे से खुरचती, कभी ज़रा ज़ोर से उस पर फोर्क मारती। इस अनमनेपन से, जाने किस उधेड़बुन में…. बेतरतीब सी वो, बिल्कुल अपने बेतरतीब बालों की तरह। वो नज़र उठा कर कैफ़े की एंट्री की तरफ़ देखती है। साहिल का ही इंतज़ार था। वो आ गया।

“ये कोई टाइम है ?” टिया अब ग़ुस्से में थी। सही वक़्त पर सही इंसान से ऐसा बर्ताव करने में बड़ा मज़ा आता है।

“तुम किस्से बहस करके आई हो ?” साहिल ने सवाल किया।

“व्हाट डू यू मीन, मै क्यूँ बहस करुँगी ?” टिया का ग़ुस्सा और बढ़ गया।

“आज ट्यूसडे है”

“ओह, हाँ मै भूल गई थी। तुम्हारी स्पेशल क्लास, वो कैसे छोड़ोगे।

SHORT STORY IN HINDI | HINDI STORY |

“कुछ थोड़ा-बहुत मंगवाई हो ? बहुत भूख लगी है।” साहिल मेन्यू को हसरत भरी निगाहों से देख रहा था।

“थोड़ा मंगवाया है… बहुत होगा न ?”

“बहुत होगा। अगर तुम न खाओ तो” तंज़ का जवाब तंज़ से न दिया जाए तो दोस्ती कैसी।

“कभी-कभी मै सोचती हूँ…. तुम और मै दोस्त कैसे बन गए।  कहीं बाद में तुम्हे मुझसे प्यार तो नहीं हो जाएगा ?”

“कभी-कभी मै भी यही सोचता हूँ”  साहिल ने एक लंबी सांस छोड़ी।

“तुम कभी सीरियस नहीं हो सकते न ?”

“तुमसे सीरियस साहिल बर्दाश्त नहीं होगा”

“नई तुम रहने दो… ऐसे ही ठीक है” टिया ने बात को ख़त्म करना चाहा।

BEST HINDI STORY

( कुछ देर ख़ामोशी रहती है। इसी बीच आर्डर आ जाता है। ख़ामोशी बरक़रार रहती है। बीच में टिया ज़रूर कुछ जनरल पूछती है पर साहिल जवाब न देकर ख़ामोश ही बैठा है )

“अरे यार कुछ पूछ रही हूँ मै, बोलो न, चलोगे ट्रिप पर ?”

`साहिल बेहद संजीदगी से टिया की तरफ़ देखता है। “नही, मै तुम्हारे साथ और नहीं रह सकता। तुम्हारा डर सच हो जाएगा”

टिया शॉक्ड थी। उसने कभी साहिल को ऐसे नहीं देखा।

“मै बहुत दिन से तुमसे कुछ कहना चाह रहा था। मुमकिन है ज़ुबां साथ न दे। इसमें सब लिखा है।” साहिल ने एक काग़ज़ टिया के हाथ में दिया और तेज़ी से वहां से निकल गया।

टिया को कुछ समझ नहीं आ रहा था। वो तो सिर्फ़ मज़ाक कर रही थी और साहिल इस तरह…. इतना सीरियस। उसने कांपते हुए हाथों से काग़ज़ खोला। स्नैक्स और कॉफ़ी का बिल था और उसका हॉफ़ अमाउंट। हमेशा ही उनके बीच 50-50 बिल का रिश्ता रहा है”

टिया की एसएमएस ट्यून बजी। “बिल देकर घर चले जा मोटी, सीरियस न हुआ कर। ट्रिप पर मिलता हूँ।” 😉

HINDI STORY ON FRIENDSHIP | HINDI STORY |

IMROZ FARHAD

यह भी पढ़ें – https://neeroz.in/lt-company-short-story-in-hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *