SCHOOLS REOPEN IN INDIA-स्कूल पुनः खोलने के निर्देश

SCHOOLS REOPEN IN INDIA. 5 अक्टूबर 2020, अंतर्राष्ट्रीय शिक्षक दिवस ( world teacher’s day ) के दिन देश के लाखों विद्यार्थियों, शिक्षकों और अभिभावकों के लिए समाचार है कि स्कूलों के दोबारा खुलने ( school reopening, ) का निर्णय केंद्र द्वारा लिया गया है।

ग़ौरतलब है कि देश भर में coronavirus महामारी के बाद स्कूल मार्च के महीने से बंद हो गए थे। 15 अक्टूबर के बाद से यानी 16 अक्टूबर से शैक्षणिक संस्थानों को खोला जा सकता है। इसमें स्कूल जाने के लिए बच्चों को अभिभावकों की सहमति चाहिए होगी। स्कूलों में हाजिरी ( attendance ) के लिए थोड़ा लचीला ( flexibility ) रुख होगा।

आज केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने इस विषय में जानकारी दी। स्कूल शिक्षा और साक्षरता विभाग ( DoSEL ) के द्वारा एक SOP ( स्टैंडर्ड ऑपरेशन प्रोसीजर ) जारी किया गया हैं। अनलॉक 5 के इस अनाउंसमेंट में होम मिनिस्ट्री ने कहा है कि सभी राज्य स्टेट्स और केंद्रशासित प्रदेश (STATES & UNION TERROTERIES ) यह तय कर सकती हैं कि उन्हें अपने स्कूल और कोचिंग सेंटर्स कब से खोलने हैं।

इस SOP के अनुसार स्टूडेंट चाहें तो ऑनलाइन क्लासेस ( online classes ) का विकल्प भी चुन सकते हैं। स्कूलों को यह सुनिश्चित करना होगा कि सभी कक्षाएं और कक्षा के सभी उपकरण अच्छी तरह से सैनिटाइज (sanatize ) होंगे।

स्कूलों से कहा गया है कि वह आपातकालीन परिस्थितियों ( emergency situations ) का सामना करने के लिए और स्कूल में स्वच्छता के लिए विशेष तरह की टास्क फोर्स का गठन करें। इस SOP में यह भी निर्देश हैं कि विद्यार्थियों को एक-दूसरे से फिजिकल डिस्टेंस यानी कि निश्चित शारीरिक दूरी बनाकर रखनी होगी। सभी विद्यार्थी और शिक्षक पूरे समय मास्क पहने होंगे।

schools reopen in India hindi
SCHOOL
ministry of education, education department

30 सितंबर 2020 के इस आदेश [ order no. 40-3/2020-DM-I(A) dated 30.09.2020 ] के अनुसार सभी राज्य और केंद्र शासित केंद्र शासित प्रदेश 15 अक्टूबर के बाद श्रेणीबद्ध तरीके से स्कूलों को  खोलने का निर्णय ले सकते हैं। मध्यान्ह भोजन ( midday meal ) बनाने और परोसने में विशेष सावधानी रखे जाने के निर्देश हैं।

एनसीईआरटी (NCERT) द्वारा हर साल जारी किए गए कम्प्रेहैन्सिव एकेडमिक कैलेंडर ( व्यापक अकादमिक कैलेंडर ) को भी स्कूल फॉलो कर सकते हैं। स्कूलों को यह सुनिश्चित करना होगा कि गृह आधारित शिक्षण ( home based schooling ) से पुनः औपचारिक शिक्षण ( formal schooling )में किस तरह पहुंचा जाएगा कहने का अर्थ यह है कि औपचारिक शिक्षा ( स्कूली शिक्षा ) शुरू होने पर विद्यार्थियों को समस्या ना जाए इस बात का ध्यान रखना होगा।

शिक्षा विभाग ( Dept of Education ) ने सभी राज्य और सभी केंद्र शासित प्रदेश से यह कहा है कि केंद्र की गाइडलाइन पर आधारित अपनी स्वयं की SOP भी तैयार कर सकते हैं। पूरे देश में कोरोनावायरस महामारी के चलते लॉक डाउन हुआ और मार्च के महीने से सारे स्कूल और कॉलेज बंद है।

शिक्षा मंत्रालय, भारत सरकार ने 54 पेज की विस्तृत गाइडलाइन जारी की है जिसका पीडीएफ pdf नीचे दी गई लिंक पर जाकर डाउनलोड किया जा सकता है।

https://www.mhrd.gov.in/sites/upload_files/mhrd/files/SOP_Guidelines_for_reopening_schools.pdf

OR

https://www.mhrd.gov.in/

IMROZ FARHAD

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *