Law of Attraction । आकर्षण का सिद्धांत । marvellous No. 1 Secret of universe

LAW OF ATTRACTION

law of attraction एक वह सिद्धांत है, जिसमें आप जो चाहे वह पा सकते हैं | नहीं नहीं यह कोई जादू मंत्र नहीं है, बल्कि यह इस universe का एक सिद्धांत है | एक ऐसा सिद्धांत जो आपके विचारों के माध्यम से physical objects को आकर्षित करता है | उदाहरण के लिए देखा जाए, तो क्या कारण हैं? अमीर के और अमीर होने का और गरीब के और गरीब होने का । उत्तर साफ है, फर्क है तो सिर्फ सोच का ।

जब आप यह सोचते हो की मेरे पास बहुत पैसे हैं, तो आप बहुत सारे पैसों को आकर्षित करते हो । जब आप सोचते हो कि मेरे पास कुछ नहीं है, या मैं कुछ कर नहीं सकता या कोई भी इस प्रकार की सोच जो आपको आपके लक्ष्य से दूर करती है, वास्तव में भी आपको वही सोच आपके लक्ष्य से दूर करती हैं । एक पुरानी कहावत याद आती है –

मन के हारे हार है, मन के जीते जीत ।

आशय स्पष्ट है, कि अगर आप अपने विचारों में, अपने मन में, अपने आप को हारा हुआ मानते हैं, तो सच्चाई भी कुछ वैसी ही होती है । आपने बहुत बार ऐसा सुना होगा की पॉजिटिव एटीट्यूड रखो , हमेशा पॉजिटिव रहो । इस बात में कितनी सच्चाई है? यकीन मानिए यह शत-प्रतिशत सत्य है, या यूँ कहें, यह एक सार्वभौमिक सत्य (Universal truth) है । जिसे कोई झुठला नहीं सकता सरल शब्दों में – आप जैसे सोचते हैं आपके साथ वही होता है ।

आपके मन में अब यह प्रश्न उठना यकीनन लाजमी है, की हर वह व्यक्ति जिसके साथ कुछ बुरा हो रहा है, या हुआ है । क्या उसने ऐसा चाहा होगा ?

उत्तर साफ है – सिद्धांत के अनुसार, जी हां !
परंतु इसमें भी एक विज्ञान है, देखिए अगर किसी व्यक्ति का एक्सीडेंट होता है । तो क्या वह ऐसा चाहेगा, नहीं बिल्कुल नहीं, परंतु पर वह हमेशा चाहता है, कि उसका एक्सीडेंट ना हो । हमारा मन, हमारा दिमाग, यूनिवर्स, किसी भी “ना” प्रकार के शब्दों का संग्रहण नहीं करता ।

Law of attraction in Hindi

अगर 2 मिनट के लिए मैं आपसे कहूं, कि अपनी आंखें बंद करके, आप अपने मन में लाल रंग की चिड़िया को…… ना देखें । तो मैं यह सत प्रतिशत कह सकता हूं, की 70% से 90% लोगों के दिमाग में लाल रंग की चिड़िया ही आई होगी और कुछ लोगों के दिमाग में background भी उनका कुछ पहचाना ही होगा । और यही कारण है, कि जाने-अनजाने में हम नेगेटिव चीजों को भी आकर्षित करते हैं । एक उदाहरण और देखें तो ज्यादातर चोरियां उसी व्यक्ति के साथ होती हैं जो सबसे ज्यादा चोरी से डरता है ।
आप पढ़ रहें हैं

How Does The Law Of Attraction Work?

आइए अब बात करते हैं, कि Law of attraction काम कैसे करता है ? देखिए यह दो तरीकों से काम करता है । एक प्रत्यक्ष, दूसरा अप्रत्यक्ष । प्रत्यक्ष वह तरीका होता है जिसमें कि आप स्वयं यह चाहते हैं, कि आप यह पाएं और आप उसके लिए सपने देखते हैं , स्क्रिप्टिंग करते हैं और वह चीज आपको मिलती है । अप्रत्यक्ष वह तरीका है, जिसमें आप बौद्धिक रूप से चीजों को आकर्षित नहीं करते हैं, बल्कि आपकी मन में उत्त्पन्न विचारों से वह चीजें आकर्षित होती हैं । सरल शब्दों में जिनके बारे में आप बहुत ज्यादा नहीं सोचते हैं । परंतु आपका अंतर्मन उन चीजों को सोचता है, और वह आप चीजें आकर्षित होती हैं ।

How to start law of attraction ?

law of attraction को प्रयोग करने के लिए आप छोटे-छोटे लक्ष्य बना सकते हैं । चाहे आपका एक कप कॉफी पीने का मन हो या आप चाहते हो किसी से मिलना । सर्वप्रथम Law of attraction के सिद्धांत में विश्वास करना, आपको यह मानना है कि यह सिद्धांत सच में आपके लिए कार्य करता है, और आगे भी करेगा ।
इसके बाद अब जो भी लक्ष्य अपने लिए सुनिश्चित करते हैं । उसके बारे में मन में यह visualize करना, यह देखना कि वह चीज आपके साथ हो रही है । और आप वह क्रिया करके या वह वस्तु पाकर बहुत खुश हैं ।

उदाहरण के लिए आप एक कार चाहते हैं । तो आपको कार के रंग, कार का ब्रांड, कार का मॉडल, वह खड़ी कहां करेंगे और उससे आप कहां कहां जाएंगे । आप जितना हो सके इसे Deep visualize और specific  करें । आप आंखों को बंद करके यह सोचे, कि वह कार, वही रंग की, वही मॉडल, आपके पास है । आप उसे ड्राइव कर रहे हैं, और आप अपनी पसंदीदा जगह जा रहे हैं । आप बहुत खुश हैं ।

दूसरा तरीका visualization  के साथ-साथ scripting करने का भी है । यह जो statement आपने तैयार किया है। इसे आप अपनी डायरी, पन्ने में, पेन से लिख सकते हैं । ध्यान रहे आप का स्टेटमेंट एकदम सटीक एकदम specific होना आवश्यक है । अब चाहे तो इसे एक बार लिखें और रोज पढ़ें अथवा आप रोज एक बार लिख सकते हैं । आप पाएंगे कि धीरे धीरे आप आपके लक्ष्य की ओर बढ़ रहे हैं ।

आइए जानते हैं, तब क्या होगा जब आपने वही लक्ष्य चुना है, जिसे किसी और ने भी अपने लिए चुना हो?

ऐसा बहुत बार होगा जब जो आप पाना चाहते हैं, वही कोई दूसरा या बहुत सारे लोग चाहते हैं । उदाहरण के लिए किसी कंपनी में मात्र 1 वैकेंसी है । और उम्मीदवार 20 हैं । तो आप सोचेंगे यहां Law of attraction काम करेगा या नहीं, जी हां Law of attraction यहां भी काम करेगा । परंतु ध्यान रहे आपके अलावा बाकी 19 लोग भी हैं, जो हो सकता है, आपसे ज्यादा desirable  या आप से ज्यादा चाहत रखते हैं । उनका उसके प्रति विश्वास ज्यादा हो ।

Law of attraction experiences

आइए हम बात करते हैं, मेरे स्वयं के Law of attraction के experience की |
आज से 2 वर्ष पहले मैंने एक visualization करना शुरू किया था । कि मैं मेरा एक ऑफिस एक हॉल पर इस तरीके से है, कि एक कार्नर में मेरा कैबिन है, दूसरे कॉर्नर में मेरी पूरी टीम बैठी हुई है, पूरा फर्नीचर stable है, और हर furniture में कंप्यूटर सिस्टम लगा हुआ है ।

यकीन मानिए मैंने इसे रोज-रोज visualize किया । मैंने अपना ऑफिस का हॉल भी specific रखा reality में वह हॉल exist करता था । जो मैंने देख रखा था । 2 साल में लगभग 3 बार मैंने अपना ऑफिस चेंज किया । तीसरी बार में हम उसी बिल्डिंग में थे । परंतु हॉल दूसरा था । हमारे दिमाग में यह था, की at least हम उसी बिल्डिंग में हैं । कुछ महीने बाद यकीन मानिए हम उसी हॉल में शिफ्ट हो गए, same furniture के साथ, जैसा कि मैंने visualize  किया था । आज मुझे पूर्ण विश्वास है, कि Law of attraction कार्य करता है ।

also read –http://neeroz.in/what-is-blogging-start-now/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *