क्या BIGG BOSS दिखाया जाना बंद कर देना चाहिए ?

मनोरंजन पर ब्लॉग लिखने से मुझे कोई परहेज़ नहीं |  मैं मनोरंजन विरोधी भी नहीं | सवाल है मनोरंजन के स्तर का | इंसान ENTERTAINMENT कब चाहता है | जब वो ज़रुरी काम से फ़ारिग़ ( free ) हो जाए | किसी होममेकर महिला,किसी कामकाजी महिला या पुरुष से पूछ लीजिये | काम हमेशा तनाव बढ़ाने वाला, थकाने वाला होता है और काम से फ़ुर्सत होकर आपका दिलो दिमाग़ चाहता है कुछ आराम करना, कुछ अच्छा देखना, कुछ beautiful देखना, कुछ melodius सुनना | अगर किसी इन्सान को अपने दिल की demands नहीं पता तो उसे और कुछ, क्या ख़ाक पता होगा |

तो बात ये है कि लाखों ( शायद करोड़ों, शायद इसलिए लगा रहा हूँ क्यूंकि इसके दक्षिण भारतीय संस्करण अलग हैं, लेकिन फ़िलहाल हम सिर्फ़ हिंदी संस्करण की बात कर रहे हैं ) लोगों द्वारा पूरे समर्पण से देखा जाने वाला ये reality show डच टेलीविज़न फ्रैंचाइज़ी BIG BROTHER ( जिसे 1999 में पहली बार प्रसारित किया गया था ) का भारतीय संस्करण है | BIG BROTHER, शो के लिए ये टाइटल george orwell की बेहतरीन किताब “1984” से लिया गया था | भारत में आकर यह BIGG BOSS हो गया | इस शो में करीब 15 या 16 सेलिब्रिटीज़ को, बाहरी दुनिया से अलग-थलग ( isolated ) एक बड़े घर में कोई तीन महीने रखा जाता है, जहाँ उन्हें कुछ टास्क करने होते हैं | elemination और public voting से आख़िर में एक विजेता मिल जाता है |

bigg boss winners

पहला सीजन telecast हुआ था 2006 में, जीते थे राहुल रॉय ( साँसों की ज़रूरत है जैसे ज़िंदगी के लिए, वही वाले ) फ़िर आशुतोष कौशिक,श्वेता तिवारी, जूही परमार,उर्वशी ढोलकिया,गौहर खान,गौतम गुलाटी,प्रिंस नरूला,मनवीर गुज्जर जैसे contestants भी जीते | इस show की TRP ये शो contestant को सितारा हैसियत तो देता है | जिनकी नही है… उन्हें, जिनकी खो गयी है… उन्हें |

bigg boss season 12

सितम्बर 2018 में शुरू हुआ bigg boss season 12 एक टीवी एक्ट्रेस जीत गईं, नाम है दीपिका कक्कड़ | इसकी थीम ‘विचित्र जोड़ी’ थी | तो ऐसा समझ आता है की इसमें विजेता का अनुमान लगाना थोड़ा मुश्किल काम है | दीपिका कक्कड़ का ही किसी डेली सोप का एक क्लिप सोशल मीडिया पर घूमता रहता है जिसमेँ वो डॉक्टर से कह रही हैं की वो अपने मृत पति को जीवित कर लेंगी | डेली सोप की व्याधियां ही अलग है, उनमें अच्छे कॉन्टेंट की इतनी कमी है कि उन्हें अलग तरह की शल्य चिकित्सा की आवश्यकता है |

reality of contestant 

इस शो में कुछ सेलिब्रिटीज होते हैं, साथ में रहना होता है | कुछ टास्क करने होते हैं | पूरे समय कैमरे की निगरानी है तो ज़ाहिर है की यहाँ हर कोई एक्टिंग ही कर रहा है | इस शो में ठीक-ठाक सा कोई टास्क या कोई अच्छा सा कन्वर्सेशन मुश्किल से ही देखने को मिलता है | ज़्यादातर bigg boss contestants की लड़ाई ही देखने को मिलती है, जो बहुत मुमकिन है कि TRP बढ़ाने के लिए सब PRE PLANNED है और अगर नहीं भी है तो ऐसी सोच और विचार आपके और आपके नौनिहालों के अंतर, उनकी सोच समझ को नष्ट कर सकते हैं, तबाह कर सकते हैं | इसमें कमाल रशीद खान ( KRK ), डॉली बिंद्रा,स्वामी ओम ( स्वामी कहलाने के लायक तो कतई नहीं ) जैसे विकृत लोग आ जाते हैं | 

भाषा पर कोई नियंत्रण नहीं है, हर तरह से CHARACTER ASSASINATION होता रहता है | बच्चे और टीनएजर्स अगर यही भाषा बोलने लगें तो क्या हो ? वो भी स्कूल, कॉलेज,सोसाइटी में एक दूसरे का character assasination करने लगें तो क्या हो ? चिंता का विषय ये है | गंभीर चिंता का विषय यही है और हर उम्र के इन्सान के लिए ज़रूरी है कि मानसिक शांति का प्रबंध करते रहे |  bigg boss के कॉन्टेंट पर आपका क्या विचार है, कमेंट में बताइये |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *